Happy Mother’s Day to all Mothers!!

This poem is though written for my Maasa but I am sure its a feeling every child would feel for his/er mother.

Your pretty smile, your kind eyes, your heart of gold and your healing touch; All you Mothers, you are no less than an angel to this world.

Happy Mothers day.

 

Maasaमाँ! 
याद तो आता नहीं तुम्हारा
गोदी में वो मुझे झुलाना
झुनझुने से मेरा दिल बहलाना
लोरी का वो गुनगुनाना
माथे को प्यार से चूमना
गुदगुदी से हँस हँस हँसाना
उँगली पकड़ चलना सिखाना

पर याद है, माँ मुझे
हाथ में उँगली थामें लिखवाना
खून पसीने से मेरे जीवन को सींचना
मुश्किलों में हौसले का बँधाना
प्यार में आँसुओं का छलकना
गम में रोऊँ तो सहलाना
आने चाहे तुफ़ानों को रोक लेना
अंधेरे में रोशनी का दिखलाना
पास ना रहूँ, तो याद में रोना

और फिर वो पल जब रिश्ता बना दोस्ताना
माँ के इस प्यार की बेल का चढ़ते ही जाना
इंद्रधनुषी रंग में जीवन को रंग देना
तुम्हारी हँसी में दुनिया पा जाना

जब अदहन रखती कोई औरत नन्हों से घिर जाती है
अपनी थाली देकर जब भी उनकी भूख मिटाती है
सुख में चाहे याद न हो, पर चोट कोई जब आती है

सूरज के जाते ही कोई दीपशिखा जल जाती है

हाँ माँ तब तु बहुत याद आति है।

 

Happy Mother’s Day to all Mothers!!!

*******************************

****************

******

Advertisements

9 thoughts on “Happy Mother’s Day to all Mothers!!

  1. Thank you Bhaskar. It is a beautiful poem written by a grateful son to his great mother. When I read it, felt like it was written for me. Just as you said, it makes us mothers feel likeour children’s heartfelt feeling are expressed. Once again, thank you for this awesome gesture.

    Like

Comments are closed.